News

नई दिल्ली। यूनाइटेड हिंदू फ्रंट ने निजामुद्दीन मरकज के ठीक हुए जमातियों को उनके गृह प्रदेशों में भेजने के दिल्ली सरकार के निर्णय की कड़ी भर्त्सना की है।

फ्रंट के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष श्री जयभगवान गोयल ने आज यहां कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल स्वयं मान चुके हैं कि दिल्ली में निजामुद्दीन मरकज के जमातियों से कोरोना पीड़ितों की संख्या में एकाएक बढ़ोतरी हुई थी। दिल्ली भर के अस्पतालों एवं क्वॉरेंटाइन केंद्रों में इनकी डॉक्टरों, नर्सों एवं पुलिस वालों के प्रति हरकतों से कोरोना योद्धाओं को शारीरिक एवं मानसिक प्रताड़ना से गुजरना पड़ा था। इन जमातियों के विरुद्ध अविलंब राष्ट्रद्रोह एवं अन्य धाराओं में मुकदमे दर्ज कर उन्हें जेलों में भेजा जाना चाहिए। दिल्ली पुलिस ,डॉक्टरों, नर्सों एवं अन्य मेडिकल स्टाफ का मनोबल बढ़ाने के लिए जमातियों को बख्शा नहीं जाना चाहिए। दिल्ली पुलिस आयुक्त को इन जमातियों के विरुद्ध खुद संज्ञान लेना चाहिए।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close