News

दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी आम आदमी पार्टी विधायक प्रकाश जरवाल को 4 दिन के पुलिस रिमांड पर भेजे जाने पर अपनी प्रतिक्रिया दी

कोरोना महामारी से लड़ने के लिए जहां डॉक्टर्स फ्रंटलाइन वॉरियर्स की तरह काम कर रहे हैं वहीं आम आदमी पार्टी विधायक प्रकाश जरवाल के कारण कोरोना योद्धा डॉक्टर की जान चली गई- मनोज तिवारी

आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल के संरक्षण में उनके विधायक दिल्ली के लोगों की जान के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं- मनोज तिवारी

मृतक डॉक्टर के सुसाइड नोट और ऑडियो क्लिप की जांच कर दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए- मनोज तिवारी

नई दिल्ली, 11 मई। दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी ने कोर्ट द्वारा आम आदमी पार्टी विधायक प्रकाश जरवाल को 4 दिन के पुलिस रिमांड पर भेजे जाने पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि सत्ता में आने के बाद से ही आम आदमी पार्टी के नेताओं के गलत कारनामे सामने आ रहे हैं। दिल्ली के लोगों ने जिस विश्वास के साथ अरविंद केजरीवाल को मुख्यमंत्री चुना, उसी विश्वास का हनन करते हुए उनके ही विधायक और नेता दिल्ली के आम लोगों के जान के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। जिसका परिणाम है कि एक कोरोना योद्धा डॉक्टर ने आम आदमी पार्टी विधायक के धमकियों से त्रस्त होकर खुदकुशी कर ली, इसके लिए आरोपी को जितनी भी सजा दी जाए कम है।

श्री तिवारी ने कहा कि जब अरविंद केजरीवाल और उनकी टीम पर आरोप लगते हैं तो वह जवाब ना देकर आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति शुरू कर देते हैं। एक ओर कोरोना महामारी के कारण उत्पन्न हो इस विषम परिस्थिति में भी अरविंद केजरीवाल टीवी चैनलों व विज्ञापनों के माध्यम से खुद के प्रचार में व्यस्त हैं तो वहीं दूसरी ओर स्वास्थ्य सुविधा की बदहाली के कारण आम लोगों के साथ-साथ कोरोना योद्धा भी दम तोड़ रहे हैं। दिल्ली सरकार की स्वास्थ्य व्यवस्था खुद वेंटिलेटर पर चली गई है लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री को इसकी परवाह नहीं है बल्कि अपनी खामियों को छुपाने के लिए झूठ पर झूठ बोले जा रहे हैं। कोरोना महामारी से लड़ने के लिए जहां डॉक्टर्स फ्रंटलाइन वॉरियर्स की तरह काम कर रहे हैं वहीं आम आदमी पार्टी विधायक के कारण उस योद्धा डॉक्टर की जान चली गई। अरविंद केजरीवाल पहले मौत के आंकड़ों को लेकर चुप्पी साध के बैठे हैं और अब संवेदनहीनता दिखाते हुए अरविंद केजरीवाल अपने विधायक के करतूतों पर भी चुप हैं। दिल्ली के लोग भी इंतजार कर रहे हैं कि कब अरविंद केजरीवाल सच बोलेंगे।

दोषियों पर सख्त कार्रवाई की मांग करते हुए श्री तिवारी ने कहा कि यह कोई पहली बार नहीं है जब आम आदमी पार्टी विधायक प्रकाश जरवाल पर डराने-धमकाने और मारपीट का आरोप लगा है, इससे पहले भी इन आरोपों के कारण उसे जेल भी हुई थी। आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के संरक्षण में ऐसे विधायक सालों से दिल्ली के लोगों के साथ दुर्व्यवहार करते आए हैं। इस मामले की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए और मृतक डॉक्टर के सुसाइड नोट और ऑडियो क्लिप की जांच कर दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close