India

बिजली कर्मियों पर लाइव हमला

पलवल

एक और नजारा सामने आया है। टहरकी गांव में बिजली की चोरी पकड़ने गए विभागीय कर्मचारियों  के साथ गुंडों के द्वारा मारपीट की गई है । साथी कर्मचारियों द्वारा बनाए गए वीडियो में साफ़ दिखाई दे रहा है कि किस तरह से दो युवक बिजली विभाग के कर्मचारियों की गाड़ी के सामने अपनी स्विफ्ट डिजायर गाड़ी लगा कर उतरते ही डंडों से हमला कर कर्मचारियों के साथ मारपीट शुरू कर देते हैं। जैसे की प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज न होकर जंगल राज हो |  बिजली विभाग के अधिकारियों द्वारा  एफ आई आर दर्ज करने के लिए लिखित कंप्लेंट पुलिस थाने में दे दी गई है  ।

 पलवल में बदमाशों के हौसले लगातार बुलंद होते जा रहे हैं|  गुंडागर्दी का नया मामला देखने को मिला है पलवल के सदर थाना क्षेत्र के गाँव टहरकी में | जहां पर बिजली विभाग की टीम जो बिजली चोरी को पकड़ने के लिए गई हुई थी |  विभागीय टीम ने  दो तीन केस कर्मचारियों ने बना भी दिए थे|  लेकिन गांव के सरपंच की गली में चोरी पकड़ने के लिए जाने के दौरान ही उनके साथ पहले बदतमीजी हुई और उसके बाद फिर गांव से सही सलामत निकलकर नहीं जाने देने की चेतावनी दे दी गई |  उसके कुछ देर बाद ही कर्मचारियों की गाड़ी पर अज्ञात बदमाशों ने हमला कर जेई वीरपाल, जेई प्रकाशवीर, एएलएम  योगेश तथा गाड़ी के चालक को डंडों से पीटकर अपनी दबंगई दिखाने का काम किया  ।   डंडों से की गई मारपीट में जेई वीरपाल के साथ साथ दूसरे कर्मचारियों को चोटें आई हैं | जेई बीरपाल को सिर में लगी चोट का सीटी स्कैन कराए जाने के बाद डॉक्टर ने प्राथमिक उपचार देते हुए हायर सेंटर के लिए रेफर कर दिया गया।


बिजली विभाग के जेई वीरपाल, जेई  प्रकाश वीर ,  एएलएम होशियार सिंह तथा योगेश  आदि ने बताया उनके ऊपर हमला गांव के सरपंच करमचंद उर्फ करणी ने कराया है। सरपंच नहीं चाहता था की उनके मकान वाली गली में बिजली विभाग के कर्मचारी बिजली चोरी करने वालों पर छापेमारी करें | जब  टीम उसके घर के पास पहुंची तो बिजली विभाग की विजिलेंस टीम को रोकने का प्रयास किया गया | फोन पर कर्मचारियों को धमकी दी गई लेकिन कर्मचारियों के दवारा अपनी कार्यवाही को नहीं रोका तो कर्मचारियों को धमकी भरी चेतावनी दी गई की गाँव बाहर निकलकर देख लो | इसपर भी कर्मचारियों ने कथित रूप से सरपंच के किसी खाश पारिवारिक सदस्य के द्वारा की जा रही चोरी को पकड़ा तो उन्हें वहां से भागने के लिए मजबूर कर दिया गया | उसके बाद भी जब कर्मचारी अपनी सरकारी गाडी से गाँव से बाहर जाने लगे तो गाडी को जबरन रोक लिया गया और फिर गुंडे बुलाकर हमला कर  दिया गया | 

  पुलिस को मामले की शिकायत दे दी गई है लेकिन अभी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं दर्शाई है।

 बिजली विभाग के कर्मचारियों के साथ हुई मारपीट के मामले में जब सरपंच करणी उर्फ़ करमचंद से बात की गई तो सरपंच ने अपने आप को पूरे मामले से पूरी तरह अनभिज्ञ  बताया |  कहा की जानकारी तो मिली है कि गांव में बिजली वालों ने कोई झगड़ा किया है |  लेकिन क्या और किसके साथ हुआ  उसे कुछ मालूम नहीं। बाईट के लिए बुलाकर मना कर दिया | 

काली शर्ट वाले लडके के बुलावे पर आये हमलावर गुंडों ने सरकारी गाडी के सामने अपनी गाडी लगाकर उतरते ही डंडों से कर्मचारियों को पीटना शुरू कर दिया | जिनकी कर्मचारियों ने स्पष्ट

पहचान न बताकर सरपंच के भेजे गुंडे बताए है | 

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close