Religion

आशुतोष शिव मंदिर में आयोजित यज्ञ में अनेक गणमान्य व्यक्तियों ने हिस्सा लिया

राम मंदिर के लिए तिगीपुर में आयोजित हुआ यज्ञ

बाहरी दिल्ली में अलीपुर इलाके के तिगीपुर गांव में आशुतोष मंदिर के अंदर हवन का आयोजन किया गया। इस हवन का मुख्य उद्देश्य था ।अयोध्या में राम मंदिर को लेकर जो भी दिक्कत है ।आ रही थी ।वह अव ना आये क्योंकि 5 तारीख को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर का उद्घाटन करेंगे इस चलते गांव के लोगों ने खुशी भी जाहिर की। इस आशुतोष मंदिर के अंदर हवन व भंडारे का आयोजन किया हवन में हरियाणा गांव के पांच प्रधानों को बुलाया गया ।
जिसमें गांव के स्थानीय निवासी पप्पन सिंह गहलोत ब्रह्म प्रकाश नंबरदार मौजूद रहे ।हालांकि सावन का महीना चल रहा है ।और इस सावन के महीने में सबसे ज्यादा पूजा-पाठ धर्म कर्म किए जाते हैं। लेकिन आज जो हवन इस मंदिर में हुआ उसका विशेष महत्व था। इसलिए यहां ज्यादातर लोग हवन के दौरान खुश होते हुए भी नजर आए। स्थानीय निवासी पप्पन सिंह गहलोत ने बताया कि हमारे गांव का यह आशुतोष मन्दिर सबसे प्राचीन मंदिर है। और इसकी महत्व भी बहुत ज्यादा है। इसलिए गुरु पूर्णिमा के दिन हमने इस मंदिर में एक अखंड ज्योति जलाई थी ।कि सावन के महीने में ज्यादातर लोग मंदिर में आते हैं। तो इस अखंड ज्योति के दर्शन जरूर करें क्योंकि इस अखंड ज्योति को लेकर इनका मानना है। कि करोना काल में क्रोना ने अपना कहर बरपा रखा है ।वह भी कहीं ना कहीं खत्म होता हुआ नजर आएगा फिलहाल 5 तारीख को राम मंदिर की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं और 5 तारीख को उद्घाटन मंदिर का देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे लेकिन ज्यादातर लोग अपने घर से ही टीवी पर लाइव मंदिर के दर्शन कर सकते हैं दिल्ली में अलीपुर इलाके के तिगीपुर गांव में आशुतोष मंदिर के अंदर हवन का आयोजन किया गया। इस हवन का मुख्य उद्देश्य था ।अयोध्या में राम मंदिर को लेकर जो भी दिक्कत है ।आ रही थी ।वह अव ना आये क्योंकि 5 तारीख को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर का उद्घाटन करेंगे इस चलते गांव के लोगों ने खुशी भी जाहिर की। इस आशुतोष मंदिर के अंदर हवन व भंडारे का आयोजन किया हवन में हरियाणा गांव के पांच प्रधानों को बुलाया गया ।जिसमें गांव के स्थानीय निवासी पप्पन सिंह गहलोत ब्रह्म प्रकाश नंबरदार मौजूद रहे ।हालांकि सावन का महीना चल रहा है ।और इस सावन के महीने में सबसे ज्यादा पूजा-पाठ धर्म कर्म किए जाते हैं। लेकिन आज जो हवन इस मंदिर में हुआ उसका विशेष महत्व था। इसलिए यहां ज्यादातर लोग हवन के दौरान खुश होते हुए भी नजर आए। स्थानीय निवासी पप्पन सिंह गहलोत ने बताया कि हमारे गांव का यह आशुतोष मन्दिर सबसे प्राचीन मंदिर है। और इसकी महत्व भी बहुत ज्यादा है। इसलिए गुरु पूर्णिमा के दिन हमने इस मंदिर में एक अखंड ज्योति जलाई थी ।कि सावन के महीने में ज्यादातर लोग मंदिर में आते हैं। तो इस अखंड ज्योति के दर्शन जरूर करें क्योंकि इस अखंड ज्योति को लेकर इनका मानना है। कि करोना काल में क्रोना ने अपना कहर बरपा रखा है ।वह भी कहीं ना कहीं खत्म होता हुआ नजर आएगा फिलहाल 5 तारीख को राम मंदिर की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं और 5 तारीख को उद्घाटन मंदिर का देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे लेकिन ज्यादातर लोग अपने घर से ही टीवी पर लाइव मंदिर के दर्शन कर सकते हैंर के अंदर हवन का आयोजन किया गया। इस हवन का मुख्य उद्देश्य था ।अयोध्या में राम मंदिर को लेकर जो भी दिक्कत है ।आ रही थी ।वह अव ना आये क्योंकि 5 तारीख को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर का उद्घाटन करेंगे इस चलते गांव के लोगों ने खुशी भी जाहिर की। इस आशुतोष मंदिर के अंदर हवन व भंडारे का आयोजन किया हवन में हरियाणा गांव के पांच प्रधानों को बुलाया गया ।जिसमें गांव के स्थानीय निवासी पप्पन सिंह गहलोत ब्रह्म प्रकाश नंबरदार मौजूद रहे ।हालांकि सावन का महीना चल रहा है ।और इस सावन के महीने में सबसे ज्यादा पूजा-पाठ धर्म कर्म किए जाते हैं। लेकिन आज जो हवन इस मंदिर में हुआ उसका विशेष महत्व था। इसलिए यहां ज्यादातर लोग हवन के दौरान खुश होते हुए भी नजर आए। स्थानीय निवासी पप्पन सिंह गहलोत ने बताया कि हमारे गांव का यह आशुतोष मन्दिर सबसे प्राचीन मंदिर है। और इसकी महत्व भी बहुत ज्यादा है। इसलिए गुरु पूर्णिमा के दिन हमने इस मंदिर में एक अखंड ज्योति जलाई थी ।कि सावन के महीने में ज्यादातर लोग मंदिर में आते हैं। तो इस अखंड ज्योति के दर्शन जरूर करें क्योंकि इस अखंड ज्योति को लेकर इनका मानना है। कि करोना काल में क्रोना ने अपना कहर बरपा रखा है ।वह भी कहीं ना कहीं खत्म होता हुआ नजर आएगा फिलहाल 5 तारीख को राम मंदिर की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं और 5 तारीख को उद्घाटन मंदिर का देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे लेकिन ज्यादातर लोग अपने घर से ही टीवी पर लाइव मंदिर के दर्शन कर सकते हैं

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close