India

प्याज की कीमतें कम नही हुई तो केन्द्रीय खाद्य आपूर्ति मंत्री रामविलास पासवान का घेराव करेगी कांग्रेस- सुभाषचोपड़ा

नई दिल्ली, 28 नवम्बर, 2019-दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री सुभाष चोपड़ा ने कहा है कि प्याज की आसमान छू रही कीमतों के लिए केन्द्र की मोदी सरकार व दिल्ली की केजरीवाल सरकार जिम्मेदार है। उन्होंने चेतावनी दी यदि प्याज की बढ़ी हुई कीमतों के लिए सरकार ने कोई ठोस कदम नही उठाए तो कांग्रेस कार्यकर्ता केन्द्रीय खाद्य आपूर्ति मंत्री श्री राम विलास पासवान का घेराव करेंगे। ज्ञातव्य है कि श्री पासवान ने प्याज की बढ़ी हुई कीमतों को कम करने में असमर्थता जाहिर की थी।

श्री सुभाष चोपड़ा ने आज जारी बयान में कहा कि दिल्ली में प्याज की कीमतें 120 रुपये को भी पार कर गई है। उन्होंने प्याजों की कीमतों पर तंज कसते हुए कहा कि डॉलर सस्ता है और प्याज मंहगा है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में प्याज व सब्जियों की कीमतें इसलिए भी और ज्यादा है क्योंकि केन्द्र व दिल्ली सरकार की जमाखोरों से सांठगांठ है। उन्हांने दिल्ली सरकार के सस्ता प्याज बेचने की योजना को नाटक करार देते हुए कहा कि आज दिल्ली के लोग सस्ते प्याज की दुकानों को ढूंढ रहे है।

श्री चोपड़ा ने इस बात पर आश्चर्य व्यक्त किया कि एक ओर प्याज सड़ रहा है वहीं दूसरी ओर आम आदमी प्याज को ढूंढ रहा है। श्री चोपड़ा ने याद दिलाया कि 1998 में दिल्ली में भाजपा की सरकार थी और इसी तरीके से प्याज की कीमतें अनियंत्रित बढ़ी थी और सरकार को हाथ धोना पड़ा था। उन्होंने कहा कि आज भी कमोबेश वही स्थिति है, और दिल्ली के लोग अपने आप को ठगा हुआ महसूस कर रहे है।

मुख्य प्रवक्ता व वरिष्ठ नेता श्री मुकेश शर्मा ने कहा कि प्याज की कीमतें कम करने के गंभीर प्रयास न तो केन्द्र सरकार की ओर से किए जा रहे हैं और न ही दिल्ली सरकार की ओर से। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा व आप पार्टी प्याज की कीमतों पर केवल राजनीतिक बयानबाजी करके अपनी जिम्मेदारी से भाग रहीं है, जबकि सच यह है कि दोनो की मिलीभगत है और जमाखोरों के प्रति दोनो की ही सहानूभूति है। श्री शर्मा ने कहा कि दोनो की नूराकुश्ती में आम जनता पिस रही है और प्याज व सब्जियां गरीब आदमी की पहुच से दूर हो गई है। उन्होंने मांग की कि तुरंत दोनां सरकार मिलकर दिल्ली के लोगों को सस्ता प्याज व सब्जियां उपलब्ध कराऐं।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close