Life StyleNational

भारतीय संस्कृति को पुनर्जीवित करता मयूर उत्सव 2019

नई दिल्ली, 24 नवंबर: दिल्ली में साहित्य कला परिषद, दिल्ली सरकार की ओर से पूर्वी दिल्ली में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन कर रही है। मयूर उत्सव 2019 नामक इस कार्यक्रम की शुरुआत 24 नवंबर 2019 से होगी और यह दो दिवसीय उत्सव मयूर विहार में 25 नवंबर 2019 तक चलेगा। प्रत्येक दिन कार्यक्रम मयूर विहार के विभिन्न फेस में आयोजित किया जाएगा। 24 दिसंबर को ईस्ट विनोद नगर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, मयूर विहार फेज -2 में कार्यक्रम आयोजित किया गया।

उत्सव के पहले दिन, दर्शकों ने बॉलीवुड के प्रसिद्ध पार्श्व गायक मोहित चौहान की शानदार प्रस्तुति का अनुभव किया। इंडीपॉप बैंड सिल्क रूट के पूर्व सदस्य ने अपने विभिन्न कई बेहतरीन गानों को दर्शकों के सामने पेश किया। दर्शकों को उनके गीतों की ताल पर झूमते देखा गया। इसके बाद राजस्थान के पूरन भट्ट द्वारा एक कठपुतली शो प्रस्तुत किया गया। इस संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार 2003 के विजेता के साथ उनकी टीम ने कठपुतली की अफनी प्रस्तुति से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। उन्होंने दर्शकों को अंत तक अपनी सीट पर टिके रहने के लिए मजबूर कर दिया। कठपुतलियों ने विभिन्न बॉलीवुड गीतों पर प्रस्तुति दी और दर्शकों से बातचीत करके उनका मनोरंजन किया। शाम को गजेंद्र राणा और उनकी टीम की प्रस्तुति ने एक पारंपरिक झलक प्रस्तुत की। उन्होंने उत्तराखंड के जीवंत लोक गीत और नृत्य प्रस्तुत किए। उनकी देवी नंदा देवी की यात्रा पर एक नृत्य प्रस्तुति भी देखने को मिली।

अगले दिन एक और बॉलीवुड सिंगिंग क्वीन शिल्पा राव दिखाई देंगी जो अपनी लाइव प्रस्तुति के साथ दर्शकों को मंत्रमुग्ध करने के लिए उपस्थित रहेंगी। संगीतमय यात्रा जारी रखने के लिए पूरन भट्ट के कठपुतली शो के बाद शेनई की एक संगीतमय यात्रा देखने को मिलेगी।

यह मंच दिल्ली सरकार और साहित्य कला परिषद की एक पहल है ताकि सभी कला और संगीत प्रेमियों को इस तरह के प्रतिष्ठित व्यक्तित्वों से मिलने का मौका मिले और लुप्त होती भारतीय संस्कृति और विरासत को पुनर्जीवित करने में मदद मिल सके।


Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close