Politics
Trending

श्री सुभाष चोपड़ा ने केन्द्रीय मंत्री वदिल्ली भाजपा के प्रभारी श्री प्रकाश जावडेकर के उस बयान पर तीखी प्रतिकिया व्यक्तकरते हुए भाजपा व आप पार्टी पर बोला हमला

नई दिल्ली, 1 जनवरी, 2019 – दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री सुभाष चोपड़ा ने कहा है कि दिल्ली में कांग्रेस की मजबूत स्थिति से बौखलाई भारतीय जनता पार्टी आप पार्टी के साथ मिलकर कांग्रेस को राजधानी में हुई हिंसा के लिए जिम्मेदार ठहरा रही है श्री चोपड़ा केन्द्रीय मंत्री व दिल्ली भाजपा के प्रभारी श्री प्रकाश जावडेकर के उस बयान पर तीखी प्रतिकिया व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने श्री केजरीवाल से भी पूछा कि इस विधेयक के ससंद में आने के बाद 4 दिन तक उन्होंने अपनी चुप्पी क्यों नही तोड़ी? श्री चोपड़ा कहा कि आप पार्टी भाजपा की बी टीम है, इसलिए उसका नैतिक समर्थन इस विधेयक के साथ है।

श्री चोपड़ा ने स्पष्ट किया कि कांग्रेस कभी भी हिंसा की समर्थक नही रही है। हमने हमेशा गांधी जी अहिंसावादी नीति का पालन किया है, वहीं दूसरी ओर भाजपा का इतिहास सब जानते है। उन्होंने फिर दोहराया कि कांग्रेस नागरिकता संशोधन विधेयक का न केवल पूरी शक्ति से विरोध कर रही है बल्कि राजधानी में इस विधेयक के खिलाफ लोकतांत्रिक तरीके से चलाए जा रहे शांति पूर्ण आंदोलनों का भी समर्थन कर रही है। उन्होंने कहा कि कल देर रात नव वर्ष के मौके पर ओखला के शाईन बाग में महिलाओं व छात्रों के शांति पूर्ण आंदोलन में भी वे स्वयं शामिल हुए थे। उन्होंने यह भी कहा कि जिस तरीके से जामिया विश्वविद्यालय के कैम्पस में घुसकर छात्रों से पुलिस ने अत्याचार किया है, उसने अंग्रेजी हूकूमत की याद दिला दी है। उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस न केवल जामिया बल्कि उन सभी छात्रों को समर्थन करती है जो इस विभाजनकारी विधेयक का विरोध कर रहे है।

श्री चोपड़ा ने कहा कि आर्थिक मंदी, बढ़ती बेरोजगारी, मंहगाई, किसानों की बदहाली जैसे गंभीर मुद्दो से लोगों का ध्यान हटाने के लिए जानबूझकर केन्द्र की भाजपा सरकार बाबा साहेब डा0 अम्बेडकर द्वारा निर्मित संविधान के आर्टिकल 14-15 का उलंघन करके नागरिकता संशोधन विधयेक को लाई है। उन्हांने कहा कि समूचा देश आज न केवल इसकी निंदा कर रहा है बल्कि इसके खिलाफ सड़कों पर आ गया है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close